शुक्रवार को चुपचाप दुनिया जहान से कटे कटे रहने वाले उन मेहनतकश स्टूडेंट्स का रिजल्ट आया जो अब भारत की सबसे बड़ी एग्जाम पास करके जनता के सामने आए हैं। मतलब ये है कि भारतीय प्रशासनिक सेवा का रिजल्ट आ गया है। I.A.S और बाकी अधीनस्थ सेवाओं के लिए सेलेक्ट सभी कैंडिडेट्स को हम भी धमचिक की तरफ से बधाई देते हैं। 759 कैंडीडेट्स जो सेलेक्ट हुए हैं, सभी ने कड़ी मेहनत से अपने लक्ष्यों को हासिल किया है और सभी को उन पर गर्व है।

लेकिन गुदड़ी के लाल सभी चैनल्स और अखबारों के लिए अच्छी हेडलाइंस बनते हैं, उनकी परवरिश और हालात दिखाकर खूब अटेंशन बटोरा जाता है पर इस बार ऐसी ही एक जल्दबाजी और बिना Fact Check के बनाई गई स्टोरी देश के जाने-माने न्यूज़ चैनल एबीपी, इस वक्त के सबसे बड़े यूट्यूब न्यूज़ प्लेटफार्म द लल्लनटॉप, और दैनिक भास्कर पर भारी पड़ गई। दरअसल हुआ यूं कि IAS का रिजल्ट आया तो एबीपी न्यूज़ ने सुमित विश्वकर्मा नाम के युवक का इंटरव्यू कर लिया और टीवी पर भी चला दिया। इस इंटरव्यू में सुमित को 9 साल से मिस्त्री का काम करते हुए आईएएस की एग्जाम पास करने वाला स्टूडेंट बता दिया गया। ए बी पी नेशनल न्यूज़ चैनल है तो किसी ने भी फैक्ट चेक की जरूरत नहीं समझी। सब के सब कूद गए जल्दबाजी में स्टोरी बनाने के लिए। Times Now Hindi, The Lallantop, Dainik bhaskar सब ने गलती कर दी लेकिन ये गलती आमतौर पर हो जाते हैं क्योंकि एबीपी न्यूज़ को सबने आधार बना लिया इसलिए Fact Check नहीं किए। एबीपी न्यूज़ ने अब ये इंटरव्यू हटा लिया है पर गलती नहीं मानी। यहां The Lallantop की तारीफ जरूर करनी होगी जिन्होंने इस गलती को स्वीकार किया बल्कि वापस माफी मांगते हुए पूरी घटना की डिटेलिंग भी की है। जिस सुमित को 53 वीं रैंक मिली है दरअसल वो बिहार के जमुई के रहने वाले हैं ,सिकंदराबाद में पले बढ़े है।पढ़ने लिखने में अव्वल थे, आईआईटी किया और बाद में प्रशासनिक सेवा की तैयारी में जुटे और लक्ष्य हासिल किया।


खुद सुमित कुमार को जब पता चला कि इस तरह की फेक न्यूज़ देश के सबसे बड़े मीडिया संस्थानों ने छाप दी, वीडियो चला दिए तो उन्होंने इसके ऊपर फेसबुक पोस्ट डाली और लिखा कि एक फेक न्यूज़ सर्क्युलेट हो रही है जिसे एबीपी न्यूज़ ने कवर किया है जिसमें आईएएस में रैंक पाने वाले युवक का नाम सुमित कुमार विश्वकर्मा बताया जा रहा है।The Lallantop की तरह और बाकी खबरी भी अपनी गलती मान सकते थे पर उन्होंने कोई खेद नहीं जताया है जो अच्छा तो नहीं है लेकिन अब नाक नीचे करने से सम्मान कम हो जाएगा ऐसी सोच भी आम बात हो गई है।

 यह भी पढ़ें:- इस स्टोरी का पूरा वीडियो देखने के लिए इस लाइन को टैप करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here